भारत का पहला स्वदेश निर्मित विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रान्त का 10 जून 2015 को केरल के कोच्चि शिपयार्ड लिमिटेड से जलावतरण किया गया विभिन्न गतिशीलतों के बाद 2018 में इसे भारतीय नौ सेना में सामिल किया जायेगा

आईएनइस विक्रान्त के बारे में 6 महत्वपूर्ण बातें

  1. यह भारत का पहला स्वदेश निर्मित सबसे बड़ा विमान वाहक पोत है
  2. इसकी आधारभूत संरचना भारतीय नेवी के डायरेक्टर ऑफ़ नेवल डिज़ाइन द्वारा कोच्चि शिपयार्ड लिमिटेड की सहायता से तैयार की गयी है 
  3. इसकी लम्बाई 260 मी चोडाई 60 मी तथा वजन 40000 मीट्रिक टन है
  4. इसमें दो हवाई पट्टियाँ बनाई गयी है जिनमें विमानों की उड़ान तथा हेलीकॉप्टरों के लिए सुगम चलन की व्यवस्था है
  5. पूरा होने पर यह 36 स्थाई विंग जेट मिग 29 के सहित स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान तेजेस से सुसज्जित होगा 
  6. इस पोत के भारतीय सेना में शामिल होने के बाद भारत विश्व में 4 देशों संयुक्त राज्य अमेरका,रूस,ब्रिटेन,और फ़्रांसके उस विशिष्ट समूह में शामिल जिसके पास इस तरह के पोत मोजूद हैं 


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें