जीका वायरस (Zika virus) एक बहुत ही खतरनाक वायरस (virus) है लैटिन अमेरिका (Latin America) के कई देशों को अपनी चपेट में ले चुका जीका वायरस एक ग्लोबल खतरा बनता जा रहा है. इसके खतरे का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि अकेले ब्राजील (Brazil) में 15 लाख लोग इस वायरस के खतरे के दायरे में हैं. आइये जानते हैं इस बीमारी के बारे में -

क्या है ज़ीका वायरस

What is the Zika virus - क्या है जीका वायरस

3893 लोग संदिग्ध रूप से जीका वायरस ( Zika virus) से प्रभावित हैं और अब तक 50 लोगों की इससे जान जा चुकी है जीका वायरस के निशाने पर गर्भवती महिलाएं ज्यादा हैं. और इसे अजन्मे बच्चों के लिए महामारी के तौर पर देखा जा रहा है. इस वायरस की वजह से भ्रूण में मस्तिष्क का विकास रुक जाता है माइक्रोसेफाले (microcephaly) नाम का दिमागी बीमारी फैल जाती है.ब्राजील में ये वायरस करीब 8 महीने पहले घुसा था. जीका वायरस दुनिया के और हिस्सों में अपने पैर फैला सकता है. हालांकि भारत (India) अभी उसके ठिकाने से दूर दिख रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने इससे बचाव के लिए उपाय सुझाए हैं.ब्राजील में 28 में से 21 राज्य जीका वायरस की चपेट में हैं और 6 राज्यों में हेल्थ इमरजेंसी (Health Emergency) का ऐलान किया गया है.

5 measures to prevent Zika virus - जीका वायरस से बचाव के लिए पांच उपाय


  1. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के अनुसार जीका वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सबसे अच्छा उपाय मच्छरों की रोकथाम है
  2. विशेषज्ञों का कहना है कि मच्छरों से बचने के लिए पूरे शरीर को ढककर रखें और हल्के रंग के कपड़े पहनें.
  3. मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर के आसपास गमले, बाल्टी, कूलर आदि में भरा पानी निकाल दें.
  4. बुखार, गले में खराश, जोड़ों में दर्द, आंखें लाल होने जैसे लक्षण नजर आने पर अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन और भरपूर आराम करें.
  5. जीका वायरस का फिलहाल कोई टीका उपलब्ध नहीं है. डब्ल्यूएचओ (WHO) का कहना है कि स्थिति में सुधार नहीं होने पर फौरन डॉक्टर को दिखाना चाहिए.

Unborn child is most at risk - गर्भ में पल रहे बच्चे को सबसे ज्यादा खतरा

इस वायरस का असर गर्भ में पल रहे बच्चों को सबसे ज्यादा हो सकता है. जिसका उदाहरण हाल में ब्राजील में उस वक्त देखने में आया जब जीका वायरस से पीड़ित महिलाओं से जन्में बच्चे वहां जन्में अन्य शिशुओं के मुकाबले छोटे सिर वाले पैदा हुए. अक्टूबर से लेकर अब तक ब्राजील में 3500 से ज्यादा छोटे सिर और अवि‍कसि‍त दिमाग वाले बच्चे पैदा हुए हैं. अल सल्वाडोर की सरकार ने तो महिलाओं को अगले दो साल तक प्रेगनेंसी से बचने की सलाह दी है.



loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें