ब्रिटिश शासन काल में 27 व्यक्ति भारत के गर्वनर-जनरल रहे थे लेकिन 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू होने के बाद गवर्नर-जनरल का पद समाप्त हो गया तथा संविधान सभा द्वारा संवैधानिक प्रमुख के रूप में राष्ट्रपति की नियुक्ति की गई आइये जानते हैं list of governor generals of India In Hindi - भारत के अब तक रहे गवर्नर-जनरल की सूची -

list of governor generals of India

list of governor generals of India In Hindi - भारत के अब तक रहे गवर्नर-जनरल की सूची

यह भी पढें - 

1. लॉर्ड विलियम बेंटिंक (Lord William Bentinck) - कार्यकाल - (1828-1835)

लॉर्ड विलियम बैण्टिंक बंगाल का अन्तिम गवर्नर जरनल था वर्ष 1833 के चार्टर एक्ट के तहत बंगाल के गवर्नर-जनरल को भारत का गवर्नर -जनरल बनाया गया इस प्रकार विलियम बेंटिंक (William Bentinck) भारत का पहला गवर्नर-जरनल बना इसने सन 1829 में राजा राममोहन राय (Raja Ram Mohan Roy) के सहयोग से सती प्रथा को प्रतिबन्धित किया था

2. लॉर्ड चार्ल्स मेटकॉफ (Lord Charles Metcalfe) कार्यकाल - (1835-1836)

इसने अपने एक वर्ष के कार्यकाल में प्रस पर से नियन्ञण हटाया इसलिए इसे भारतीय प्रेस का मुक्तिदाता कहा जाता है

3. लॉर्ड ऑकलैण्ड (Lord Oakland)

कार्यकाल - (1836-1842)

इसने 1839 में कलकत्ता से दिल्ली तक ग्रैण्ड ट्रंक रोड (Grand Trunk Road) की मरम्मत करवाई थी

4. लॉर्ड एलनबरो (Lord Elnbro)

कार्यकाल - (1842-1844)

एलनबरो के कार्यकाल को कुशल अकर्मण्यता की नीति का काल कहा जाता है

5. लॉर्ड हार्डिंग प्रथम (First Lord Hardinge)

कार्यकाल - (1844-1848)

प्रथम आंग्ल-सिख युध्द इसी के समय में हुअा जिसमें अंग्रेज विजयी हुऐ इसने नर बली प्रथा पर प्रतिबन्ध लगाया था

6. लॉर्ड डलहौजी (Lord Dalhousie)

कार्यकाल - (1848-1856)

डलहौजी के समय में भारत में रेल परिवहन का आरम्भ हुआ था इसी के समय में पहली बार 16 अप्रैल 1853 में मुम्बई से थाणे के बीच प्रथम रेल चलाई गयी थी इसी के समय में पोस्ट ऑफिस एक्ट (Post Office Act) पारित हुआ था इसी के समय में पहली बार कलकत्ता से अागरा के बीच पहली बार बिजली से संचालित तार सेवा शूरू हुई

7. लॉर्ड कैनिंग (Lord Canning)

कार्यकाल - (1856-1862)

यह भारत में कम्पनी द्वारा नियुक्त अन्तिम गवर्नर-जनरल तथा कैनिंग के समय इण्डियन हाई कोर्ट एक्ट (Indian High Courts Act) पारित हुआ

8. लॉर्ड एल्गिन (Lord Elgin)

कार्यकाल - (1862-1863)

इसने वहाबी आंदोलन (Wahhabi movement) का दमन किया था

9. सर जॉन लॉरेंस (Sir John Lawrence)

कार्यकाल - (1863-1869)

इसने जॉर्ज कैम्पबेल के नेतृत्व में एक अकाल आयोग का गठन किया वर्ष 1865 में इसके द्वारा भारत एवं यूरोप के बीच प्रथम समुद्री टेलीग्राम सेवा शुरू की गई

10. लॉर्ड मेयो (Lord Mayo)

कार्यकाल - (1869-1872)

लॉर्ड मेयो ने अजमेर में मयो कॉलेज की स्थापना की इसने वर्ष 1872 में एक कृषि विभाग की स्थापना की

11. लॉर्ड नॉर्थ ब्रूक (Lord North Brook)

कार्यकाल - (1872-1876)

पंजाब का कूका अान्दोलन (Kuka Movement) नॉर्थ ब्रुक के समय में ही हुआ था

12. लॉर्ड लिटन (Lord Lytton)

कार्यकाल - (1876-1880)

इस के समय में भारत में वर्ष 1878 को भारतीय शस्ञ अधिनियम (Indian Arms Act) पारित हुआ था जिसके तहत शस्ञ रखने तथा बेचने के लिए लाइसेन्स को अनिवार्य बना दिया गया इसने सिविल सेवा परीक्षाओं में प्रवेश की आयु-सीमा 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष कर दी

13. लॉर्ड रिपन (Lord Ripon)

कार्यकाल - (1880-1884)

इसने स्थानीय स्वशासन की शुरूआत की लॉर्ड रिपन के द्वारा ही वर्ष 1881 में प्रथम कारखाना अधिनियम लाया गया लॉर्ड रिपन ने सर्वप्रथम समचार - पञों की स्वतन्ञता को बहाल करते हुऐ वर्ष 1882 में वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट को समाप्त कर दिया इसने सिविल सेवा में प्रवेश की आयु को 19 वर्ष से बढाकर 21 बर्ष कर दिया था

14. लॉर्ड डफरिन (Lord Dufferin)

कार्यकाल - (1884-1888)

इसके समय में सबसे महत्वपूर्ण घटना कॉग्रेस की स्थापना थी 28 दिसम्बर 1885 को ए ओ ह्यूम (AO Hume) के नेतृत्व में भारतीय राष्ट्रीय काॅग्रेस (Indian National Congress) की स्थापना हुई थी

15. लॉर्ड लैंस्डाउन (Lord Lansdaun)

कार्यकाल - (1888-1894)

भारत (India) और अफगानिस्तान (Afghanistan) के मघ्य सीमा-रेखा (डूरण्ड रेखा ) का निर्धारण लॉर्ड लैन्सडाउन के कार्यकाल में हुआ था इसके कार्यकाल में इण्डियन काउन्सिल एक्ट (Indian Council Act) पारित हुआ था

16. लॉर्ड एल्गिन द्वितीय (Lord Elgin II)

कार्यकाल - (1894-1899)

लॉर्ड एल्गिन द्वितीय के समय वर्ष 1895-1898 में मध्य उत्तर प्रदेश , बिहार, पंजाब, एवं मध्य प्रदेश में भयंकर अकाल पडा था

17. लॉर्ड कर्जन (Lord Curzon)

कार्यकाल - (1899-1905)

इसने सन 1904 में भारतीय विश्वविध्यालय अधिनियम पारित किया था इसी के कार्यकाल के समय कलकत्ता में विक्टोरिया मैमोरियल हॉल का निर्माण हुआ था कर्जन ने भारत विरोधी कार्यों में सर्वाधिक महत्वपूर्ण कार्य बंगाल का विभाजन था

18. लॉर्ड मिण्टो द्वितीय (Lord Minto II)

कार्यकाल - (1905-1910)

इसके समय में आगा खॉं एवं सलीमुल्ला खॉ के द्वारा ढाका में वर्ष 1906 मुस्लिम लीग की स्थापना हुई थी

19. लॉर्ड हार्डिंग द्वितीय (Lord Hardinge II)

कार्यकाल - (1910-1916)


इसके समय में प्रथम विश्व युद्ध (First world war) प्रारम्भ हुआ था इसके समय की प्रमुख घटायें ब्रिटेन के सम्राट जॉर्ज पंचम का भारत आगमन, दिल्ली में एक भव्य दरबार का आयोजन, बंगाल का विभाजन रद्द करने की धोषणा, एवं भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानान्तरित करने की धोषणा थी

20. लॉर्ड चेम्सफोर्ड (Lord Chelmsford)

कार्यकाल - (1916-1921)

इसके कार्यकाल में रौलेट एक्ट पारित हुआ था जलियॉवाला बाग हत्याकाण्ड चेम्सफोर्ड के समय में हुआ था इसके कार्यकाल की महत्वपूर्ण घटानायें खिलाफत आन्दोलन, गॉंधीजी के सत्याग्रह असहयोग आन्दोलन की शुरूआत, थी

21. लॉर्ड रीडिंग (Lord Reading)

कार्यकाल - (1921-1926)

लॉर्ड के कार्यकाल में ही काकोरी काण्ड (Kakori Conspiracy) हुआ था इसके समय में ही गॉधीजी द्वारा चलाया गया पहला असहयोग आन्दोलन चौरा-चौरी घटना के कारण लॉर्ड रीडिंग के समय ही स्थगित किया गया था

22. लॉर्ड इरविन (Lord Irwin)

कार्यकाल - (1926-1931)

इसके समय में ही साइमन कमीशन (Simon Commission) भारत आया था इसके समय में ही दिल्ली असेम्बली हॉल (Assembly Hall) में बम फेंका गया था तथा वर्ष 1929 में लाहौर अधिवेशन में कॉग्रेस मे पूर्ण स्वराज्य का लक्ष्य घाषित किया था इसके समय में ही नवम्बर 1930 में लन्दन में प्रथम गोलमेेल सम्मेलन (Conference first round match) का आयोजन किया गया था

23. लॉर्ड विलिंगडन (Lord Willingdon)

कार्यकाल - (1931-1936)

इसके समय में 7 सितम्बर से 1 दिसम्बर 1931 तक द्वितीय गोलमेज सम्मेलन (Second Round Table Conference) का आयोजन लन्दन में किया गया था इसके समय में महात्मा गाॅधीजी (Mahatma Gandhi) और अम्बेडकर के बीच 26 सितम्बर 1932 को पूना समझौता हुआ वर्ष 1935 में भारत सरकार अधिनियम पास हुआ था

24. लॉर्ड लिनलिथगो (Lord Linlithgow)

कार्यकाल - (1936-1944)

इसी के कार्यकाल में भारत छोडो आन्दोलन (quit india movement) आरम्भ हुआ 1 सितम्बर 1939 को द्वितीय विश्व युद्ध (second World War) का प्रारम्भ इसी के कार्यकाल में हुआ था इसके ही कार्यकाल में पहली बार चुनाव कराये गये थे इसी के कार्यकाल में क्रिप्स मिशन (Cripps Mission) भारत आया था


25. लॉर्ड वेवेल (Lord Wavell)

कार्यकाल - (1944-1947)

वैवेल के समय में शिमला समझौता (Simla Agreement) हुआ था इसके कार्यकाल में कैबिनेट मिशन (Cabinet Mission) भारत आया था इसके कार्यकाल में तत्कालीन ब्रिटिश प्रधानमंञी क्लीमेंट एटली (Clement Attlee) ने भारत को जून 1948 के पहले स्वतन्ञ करन की घोषणा की थी

26. लॉर्ड माउंटबेटन (Lord Mountbatten)

कार्यकाल - (1947-1948)

ब्रिटिश भारत का अन्तिम वायसराय तथा स्वतन्ञ भारत का प्रथम गर्वनर-जनरल जिसने 3 जून 1947 को यह घोषणा की कि भारत और पाकिस्तान के रूप में भारत का विभाजन ही समस्या का हल है इसी को कार्यकाल में भारतीय स्वतन्ञता विघेयक ब्रिटिश संसद में 4 जुलाई 1947 काे प्रधानमंञी एटली द्वारा प्रस्तुत किया गया था इस विधेयक में भारत और पाकिस्तान दो स्वतन्ञ राष्ट्रों के निर्माण की बात कही गई थी

27. चक्रवर्ती राजगोपालाचारी (Chakravarti Rajagopalachari)

कार्यकाल - (1948-1950)

लॉर्ड माउण्टबेटन के वापसी के बाद 21 जून 1948 को चक्रवर्ती राजगोपालाचारी भारत के गवर्नर-जनरल बनाए गये थे वे स्वतन्ञ भारत के प्रथम भारतीय व अन्तिम गवर्नर-जनरल थे

List of governors-general of India, Governor General of British India, governor generals of india during british rule,British Governor Generals and Viceroys, British Viceroys in India


loading...

Post a Comment

  1. बहुत अच्छी जानकारी प्राप्त हुई।

    ReplyDelete
  2. omly up all governor list post sir this portal is very usefull for me thanks

    ReplyDelete

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें