ईश्वर चन्द्र विद्यासागर भारत के प्रसिद्ध समाज सुधारक, शिक्षा शास्त्री थे आइये जानते हैं ईश्वर चन्द्र विद्यासागर के अनमोल विचार -

ईश्वर चन्द्र विद्यासागर के अनमोल विचार

ईश्वर चन्द्र विद्यासागर के प्रेरणादाायक विचार -inspiring thoughts of Ishwar Chandra Vidyasagar

  1. अपने हित से पहले, समाज और देश के हित को देखना एक विवेक युक्त सच्चे नागरिक का धर्म होता है
  2. दुसरो के कल्याण से बढ कर, दुसरा और कोई नेक काम और धर्म नही होता
  3. जो मनुष्य संयम के साथ, विर्द्याजन करता है, और अपने विद्या से सब का परोपकार करता है। उसकी पूजा सिर्फ इस लोक मे नही वरन परलोक मे भी होती है
  4. संयम विवेक देता है, ध्यान एकाग्रता प्रदान करता है। शांति, सन्तुष्टी और परोपकार मनुष्यता देती है
  5. जो नास्तिक हैं उनको वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भगवान में विश्वाश करना चाहिए इसी में उनका हित है
  6. विद्या" सबसे अनमोल 'धन' है; इसके आने मात्र से ही सिर्फ अपना ही नही अपितु पूरे समाज का कल्याण होता है
  7. संसार मे सफल और सुखी वही लोग हैं, जिनके अन्दर "विनय" हो और विनय विद्या से ही आती है
  8. समस्त जीवोंं मेंं मनुष्य सर्वश्रेष्ठ बताया गया है; क्यूंकि उसके पास आत्मविवेक और आत्मज्ञान है
  9. कोई मनुष्य अगर बङा बनना चाहता है, तो छोटे से छोटा काम भी करे, क्यूंकि स्वावलम्बी ही श्रेष्ठ होते है
  10. मनुष्य कितना भी बङा क्यो न बन जाए उसे हमेशा अपना अतीत याद करते रहना चाहिए
  11. जो व्यक्ति दुसरो के काम मे न आए, वास्तव मे वो मनुष्य नही है
  12. अगर सफल और प्रतिष्ठित बनना है, तो झुकना सीखो। क्यूंकि जो झुकते नही, समय की हवा उन्हे झुका देती है
  13. एक मनुष्य का सबसे बङा कर्म दुसरो की भलाई, और सहयोग होना चाहिए; जो एक सम्पन्न राष्ट्र का निमार्ण करता हैै
Ishwar Chandra Vidyasagar Quotes In Hindi, Ishwar Chandra Vidyasagar, 


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें