रवीन्द्रनाथ ठाकुर (Rabindranath Tagore) को गुरुदेव के नाम से भी जाना जाता है वे विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार, दार्शनिक और भारतीय साहित्य के एकमात्र नोबल पुरस्कार विजेता हैं आइये जानते हैंं रबीन्द्रनाथ ठाकुर के अनमोल विचारों के बारे में -

रबीन्द्रनाथ ठाकुर के अनमोल विचार

Inspirational Thoughts of Rabindranath Tagore in Hindi - रबीन्द्रनाथ ठाकुर के प्रेेरणात्‍मक विचार

  1. कलाकार प्रकृति का प्रेमी है अत: वह उसका दास भी है और स्वामी भी
  2. मैंने स्वप्न देखा कि जीवन आनंद है. मैं जागा और पाया कि जीवन सेवा है. मैंने सेवा की और पाया कि सेवा में ही आनंद है
  3. यदि आप सभी गलतियों के लिए दरवाजे बंद कर देंगे तो सच बाहर रह जायेगा
  4. कला के मध्यम से व्यक्ति खुद को उजागर करता है अपनी वस्तुओं को नहीं
  5. प्रसन्न रहना बहुत सरल है, लेकिन सरल होना बहुत कठिन है
  6. सिर्फ तर्क करने वाला दिमाग एक ऐसे चाक़ू की तरह है जिसमे सिर्फ ब्लेड है। यह इसका प्रयोग करने वाले को घायल कर देता है
  7. फूल की पंखुड़ियों को तोड़ कर आप उसकी सुंदरता को इकठ्ठा नहीं करते
  8. मौत प्रकाश को ख़त्म करना नहीं है; ये सिर्फ भोर होने पर दीपक बुझाना है
  9. मित्रता की गहराई परिचय की लम्बाई पर निर्भर नहीं करती
  10. प्रत्येक शिशु यह संदेश लेकर आता है कि ईश्वर अभी मनुष्यों से निराश नहीं हुआ है
  11. जो कुछ हमारा है वो हम तक तभी पहुचता है जब हम उसे ग्रहण करने की क्षमता विकसित करते हैं
  12. आस्था वो पक्षी है जो भोर के अँधेरे में भी उजाले को महसूस करती है
  13. वे लोग जो अच्छाई करने में बहुत ज्यादा व्यस्त होते है, स्वयं अच्छा होने के लिए समय नहीं निकाल पाते

Inspirational Quotes by Rabindranath Tagore, Selected Quotations of Rabindranth Tagore, rabindranath tagore quotes in hindi, rabindranath tagore love quotes, rabindranath tagore quotes on education,


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें