मौर्य  साम्राज्‍य (maury saamraajy) भारत का एक बहुत पुुराना साम्राज्‍य था जिसने भारत पर 137 वर्षों तक राज किया था इस  साम्राज्‍य की राजधानी पाटिलपुत्र (Pataliputra) थी आइये जानते हैंं मौर्य साम्राज्‍य के बारे में और अधिक जानकारी - information and facts about the Mauryan Empire in Hindi 

मौर्य साम्राज्‍य केे बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी और तथ्‍य

information and facts about the Mauryan Empire in Hindi - मौर्य साम्राज्‍य केे बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी और तथ्‍य

  1. मौर्य  साम्राज्‍य की स्‍थापना चन्‍द्रगुुप्‍त मौर्य ने की थी
  2. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य का जन्‍म 345 ई० में हुआ था
  3. इनकी माता का नाम मुरा था
  4. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य ने नन्‍दराज वंंश के राजा धनानन्‍द को युद्ध में हराकर मगध में मौर्य वंश की स्‍थापना की थी
  5. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य 322 ई में मगध की राजगद्दी पर वैठा था
  6. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य ने चाणक्‍य की सहायता से राजा धनानन्‍द काे हराया था
  7. चाणक्‍य चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य के प्रधानमंत्री थेे
  8. इन्‍हें कोटिल्‍य और विष्‍णुगुुप्‍त के नाम भी जाना जाता था
  9. चाणक्‍य का जन्‍म तक्षशिला में हुआ था
  10. चाणक्‍य ने अर्थशास्‍त्र नामक पुस्‍तक की रचना की थी
  11. चाणक्‍य ने चाण्‍ााक्‍य नीति नामक पुस्‍तक भी लिखी थी
  12. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य ने व्‍यापक विजय हासिल कर प्रथम अखिल भारतीय साम्राज्‍य की स्‍थापना की थी
  13. चन्‍द्रगुुप्‍त मौर्य नेे सेल्‍युुकस निकेटस को 305 ई० में हराया था
  14. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य के दरबार में सेल्‍युकस ने मेगस्‍थनीज नामक राजदूत को भेजा था
  15. मेगस्‍थनीज ने भारत के विषय के में इंंडिका नामक पुस्‍तक लिखी थी
  16. सेल्‍युकस ने अपनी बेटी कार्नेलिया की शादी चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य से की थी
  17. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य का साम्रा्ज्‍य चार प्रान्‍तों में बॅटा था
  18. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य ने जैन्‍ा धर्म स्‍वीकार कर भद्रबाहु नामक जैन भिक्षु के साथ मैसूर चला गया था
  19. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य की मृत्‍युु 298 ई० में श्रवणबेलगोला में उपवास द्वारा हुई थी
  20. चन्‍द्रगुप्‍त मौर्य का उत्‍तराधिकारी बिन्‍दुसार था
World History Timeline The Mauryan empire, The History of the Mauryan Empire in India, Interesting Maurya Empire Facts, history of morya vansh in hindi


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें