ग्‍यासद्दीन बलबन गुलाम वंश का नौवा सुल्‍तान था बलबन मूलतः सुल्तान इल्तुतमिश का तुर्की ग़ुलाम था इल्तुतमिश ने ग्वालियर को जीतने के उपरान्त बलबन को ख़रीद लिया नसिरुद्दीन की मृत्यु के उपरान्त 1266 ई. में अमीर सरदारों के सहयोग से वह 'ग़यासुद्दीन बलबन' के नाम से दिल्ली के राजसिंहासन पर बैठा आइये जानते हैंं - Important information about Balban Dynasty in Hindi - बलबनी वंश के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी

बलबनी वंश के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी

Short biography of Sultan Ghiyas-ud-din Balban in Hindi - सुल्तान ग्‍यास-उद-दीन बलबन की संक्षिप्त जीवनी


  1. बलबनी राजवंश की स्‍थापना बलबन ने की थी
  2. इल्‍तुतमिश ने ग्‍वालियर को जितने के बाद बलबन को खरीद लिया था
  3. बलबन का पूरा नाम ग्‍यासुद्दीन बलबन (Ghiyas ud din Balban) था
  4. बलबन ने इल्‍तुतमिश द्वारा स्‍थापित चालीस तुर्की सरदारों के दल को समाप्‍त कर दिया था
  5. बलबन के समय मे बंगाल की राजधानी लखनौती केा विद्रोह का नगर कहा जाता था
  6. बलबन ने मलिक मुकद्दीन को तुगरिल कुशं की उपाधि प्रदान की थी
  7. घुुटने पर बैठकर सम्राट के सामने सिर झुुकाना तथा पॉव को चूमनेे की प्रथा बलबन ने शुरू की थी
  8. दिल्‍ली सल्‍तनत का पहला सुल्‍तान बलबन था जिसने अपने राजत्‍व सिद्धांत की विस्‍तारपूर्वक व्‍याख्‍या की
  9. अपनी शक्ति को समेकित करने के बाद बलबन ने जिल्‍ले-इलाही की उपाधि धारण की थी
  10. बलबन स्‍वंय को शाहनामा के नामक अफ्रासियाब का बंशज बताता था
  11. बलबन ने राजा को धरती पर ईश्‍वर का प्रतिनिधि नियाबते खुदाई माना है
  12. अपने पुत्र की मृृत्‍यु के सदमें को बर्दाश्‍त न करनेे के कारण बलबन की मौत 1286 ई० में हो गई
  13. मंंगोलों के विरूद्ध फरवरी 1286 ई० में हुऐ युद्ध में बलबन के पुत्र की मुुहम्‍मद खान की हत्‍या कर दी गई थी
  14. बलबन ने अपने पौत्र कैैखुसरो को अपना उत्‍तराधिकारी बनाया था
  15. दिल्‍ली के कोतवाल फखरूद्दीन मुहम्‍मद ने बलबन की मृृत्‍यु के बाद कूटनीति के द्वारा कैखुसरो को मुल्‍तान की सूबेदारी देकर कैकुुबाद को दिल्‍ली की गद्दी पर बैठाया था
  16. कैैकुबाद ने नाइब निजामुद्दीन जाेे फखरूद्दीन का दामाद था को जहर देकर मरवा दिया
  17. कैकुबाद ने गैर तुर्क सरदार जलालुद्दीन फिरोज खिलजी को अपना सेनापति बनाया था
  18. कैकुबाद को लकवा मारने के बाद तुर्क सरदारोंं ने उसके तीन बर्षीय पुत्र शम्‍सुद्दीन को सुल्‍तान घोषित किया
  19. जलालुद्दीन फिरोज खिलजी ने शम्‍सुद्दीन की हत्‍या कर दिल्‍ली की राजगद्दी पर स्‍वंय अधिकार कर लिया
  20. बनबल के बलबनी वंंश का अंतिम शासक शम्‍सुद्दीन कैैमुर्स था
Ghiyas ud din Balban, Ghiasuddin Balban Biography, History and Facts, Biography of Ghiyas-ud-din Balban, बलबन का इतिहास, 



loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें