ज़हिर उद-दिन मुहम्मद बाबर जो बाबर के नाम से प्रसिद्ध हुआ, एक मुगल शासक था जिसका मूल मध्य एशिया था बाबर ने भारत में मुगल वंश (Mughal dynasty) की स्‍थापना की थी आइये- History of Mughal Empire Babur in Hindi  - जानें मुगल वंश के संस्‍थापक बाबर के बारे में

जानें मुगल वंश के संस्‍थापक बाबर के बारे में

biography of babur in Hindi - मुगल बारशाह बाबर का जीवन परिचय


  1. भारत में मुगल साम्राज्‍य का संंस्‍थापक बाबर था
  2. बाबर ने मुगल वंश केे साथ ही पद-पादशाही की स्‍थापना की थी
  3. जिसके तहत शासक को बादशाह कहा जाता था
  4. बाबर काा वास्‍तविक नाम जहीरूद्दीन मुहम्‍मद बाबर था
  5. इसका जन्‍म 14 फरवरी 1483 ई० में हुआ था
  6. बाबर के पिता उमरशेेख मिर्जा फरगाना नामक छोटेे राज्‍य के शासक थे
  7. बाबर 8 जून 1494 ई० में माबरा उन्‍नहर की एक छोटी-सी रियासत फरगाना का शासक था
  8. जब बाबर शासक बना तब उसकी उम्र मात्र 11 बर्ष 4 माह का था
  9. बाबर ने फरगाना में अपना राज्‍यभिषेक अपनी दादी ऐसान दौलत बेगम के सहयोग से करावाया था
  10. बाबर ने 1507 ई० में बारशाह की उपााधि धारण की थी
  11. बादशाह की उपाधि इससे पहले किसी तैमूर शासक ने धारण नहीं की थी
  12. बाबर ने भारत पर पहला आक्रमण 1519 ई० में युसूफ जाई जाति के विरुद्ध था
  13. बाबर ने भारत पर पॉच बार आक्रमण किया था
  14. बाबर काेे भारत पर आक्रमण करने का निमंत्रण पंजाब के शासक दौलत खॉ लोदी एवं मेवाड के शासक राणा सॉगा ने दिया था
  15. पानीपत की पहली लडाई 21 अप्रैल 1526 ई० बाबर और इब्रा्हीम लोदी केे बीच लडी गयी थी
  16. इस लडाई में दो प्रमुख तोप निशानेबाज उस्‍ताद अली एवं मुस्‍तफा ने भाग लिया था
  17. बाबर को अपनी उदारता के कारण कलन्‍दर की उपाधि दी गई थी
  18. बाबर दिल्‍ली की राजगद्दी पर 27 अप्रैल 1526 को बैठा था
  19. बाबर ओर राणा सांगा के बीच खानवा की लडाई 16 मार्च 1527 ई० को हुई थी
  20. इस लडाई काेे जीतने के बाद बाबर ने गाजी की उपाधि धारण की थी
  21. बाबर को मोदिनी राय के बीच लडाई 20 जनवरी 1528 ई० को हुई थी
  22. बाबर की मातृभाषा तुर्की थी
  23. बाबर द्वारा लिखित आत्‍मकथा का नाम तुजुक-ए-बाबरी है
  24. यह आत्‍मकथा तुर्की भाषा में लिखी गई थी
  25. इस आत्‍मकथा को अब्‍दुल रहीम खानखाना ने फारसी भाषा में अनुुवाद किया था
  26. बाबर की मृत्‍यु 48 बर्ष की आयुु में 26 दिसम्‍बर 1530 ई० को आगरा में हुई थी
  27. बाबर के शव काेे प्रारम्‍भ में आगरा के आरामबाग में दफनाया गया बाद मेंं काबुल में उसके उसके द्वारा चुने हुऐ स्‍थान पर दफनाया गया था
  28. बाबर को मुबईयान नामक पद्य शैली का जन्‍मदाता माना जाता है
  29. बाबर के चार पुत्र थे - 1-हुमायूॅ 2-कानरान 3-असकरी 4-हिन्‍दाल
  30. बाबर को बाद उसका पुत्र हुमायूॅ राजगद्दी पर बैठा था

              इस पोस्‍ट को पीडीएफ में डाउनलोड करनेे लिए क्लिक करें


              


Babar History In Hindi, Babar Biography, History and Facts, biography of babur in hindi, Mughal babar in Hindi, HISTORY OF THE MOGHUL EMPIRE, Biography of Mughal Emperor Babur, Mughal Empire,history of babur mughal emperor in hindi



loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें