यूनेस्‍को (UNESCO) द्वारा प्रत्‍येक वर्ष 18 अप्रैल के दिन को विश्व विरासत दिवस ( World Heritage Day) के रूप मनाया जाता है इस दिवस को मनाने का उद्देश्य हमारे पूर्वजों द्वारा मिली विरासत को अनमोल मानते हुए  इन्हें सुरक्षित और सम्भाल कर रखना है तो आइये जानते हैं विश्व विरासत दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important information about World Heritage Day

Important information about World Heritage Day

विश्व विरासत दिवस के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी - Important information about World Heritage Day


विश्व विरासत दिवस (World Heritage Day) पहली बार 18 अप्रैल, 1982 को ट्यूनीशिया में 'इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ मोनुमेंट्स एंड साइट्स' द्वारा मनाया गया था इससे पहले यह दिवस विश्व स्मारक तथा पुरातत्व स्थल दिवस के रुप में मनाया जाता था इन सभी पुरानी विरासतों की देख रेख के लिए  "यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज सेंटर" की स्‍थापना हुई सबसे पहले 18 अप्रैल, 1978 ई. में पहले विश्व के कुल 12 स्थलों को विश्व विरासत स्थलों की सूची में शामिल किया गया इसके बाद वर्ष 18 अप्रैल 1983  में पहली बार भारत के चार ऐतिहासिक स्थलों को यूनेस्को ने "विश्व विरासत स्थल" के रूप में शामिल किया ये चार स्थल थे- ताजमहल, आगरा का क़िला, अजंता और एलोरा की गुफाएँ  
इस समय लगभग 43 स्‍थलों को विश्‍व विरासत की सूची में शामिल किया गया है 

Tag - Did you know that 18 April is World Heritage Day, World Heritage Day, Celebrating World Heritage Day, world heritage day information, world heritage day in india,







loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें