विश्‍व की पहली सोलर ट्रेन (Solar train) 14 जुलाई 2017 को भारतीय रेल द्वारा चलाई गई इस को हरी झंडी देश के रेल मंत्री सुरेश प्रभु (Railway Minister Suresh Prabhu) ने दिखाई यह ट्रेन सराय रोहिल्ला से गुड़गांव के फारुख नगर तक चलेगी तो आइये जानें विश्व की पहली सोलर ट्रेन के बारे में - Know About the Worlds First Solar Train

Know About the Worlds First Solar Train

जानें विश्व की पहली सोलर ट्रेन के बारे में - Know About the Worlds First Solar Train

  1. इस ट्रेन का उद्घाटन दिल्‍ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन (Safdarjung Railway Station) पर किया गया
  2. इस ट्रेन के इंजन को छोडकर सभी डिब्‍बे सोलर एनर्जी द्वारा चलाये जाऐंगे
  3. ये ट्रेन भारतीय रेलवे की पहली सौर ऊर्जा युक्त डीईएमयू (डीजल इलेक्ट्रिक मल्टि यूनिट) ट्रेन है
  4. इस के हर कोच में 16 सौर पैनल लगे हैं जिनकी कुल क्षमता 4.5 किलोवाट है
  5. इस ट्रेन में गद्देदार सीटों का इस्तेमाल किया गया है साथ ही हरेक कोच में एक डिस्प्ले बोर्ड लगा है
  6. यह ट्रेन चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्टरी में बनी है
  7. इस ट्रेन की कुल लागत 13.54 करोड़ रुपये है
  8. इस तकनीकी के इस्‍तेमाल से ट्रेन से प्रति कोच सालाना दो लाख रुपये के डीजल की बचत होगी
  9. इस ट्रेन में दस कोच हैं जिसमें 2 मोटर, 8 पैसेंजर कोच हैं
  10. इससे पहले शिमला कालका टॉय ट्रेन की छोटी लाइन पर सौर ऊर्जा से ट्रेन चल रही हैं

Tag - Indias 'first solar-powered train, First solar charged heritage train worldwide, What do we have to know about Indias first solar train, India aims for worlds first Solar Train, solar train project india, solar powered train in india, solar train advantages,


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें