आज के समय में शायद ही कोई व्‍यक्ति होगा जो योग गुरु बाबा रामदेव ( yoga guru Baba Ramdev) को नही जानता होगा बाबा रामदेव भारत के जाने माने योग गुरू हैैं तो आइये जानें कौन हैं बाबा रामदेव - Know Who is Baba Ramdev

Know who is yoga guru Baba Ramdev
जानें कौन हैं योग गुरु बाबा रामदेव - Know who is yoga guru Baba Ramdev

बाबा रामदेव का प्रारंभिक जीवन 

बाबा रामदेव का जन्‍म 12 दिसम्बर सन 1965 में हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में अलीपुर के नारनौल गांव में हुआ था उनके पिता का नाम राम यादव (Ram Yadav) और माता का नाम गुलाबो यादव (Gulabo Yadav) था बाबा रामदेव का वास्तविक नाम रामकृष्ण यादव है इन्‍होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव से ही पूरी की थी उसके बाद इन्‍होंने आगे की शिक्षा के लिए शहजादपुर के विद्यालय में दाखिला लिया बाबा रामदेव के बचपन में शरीर का बाया हिस्सा पक्षाघात से ग्रस्त हो गया था किसी कहने पर इन्‍होंने योगा अभ्‍यास करना शुरू कर दिया और पक्षाघात वाले हिस्‍से को पूरी तरह से ठीक कर लिया तब बाबा रामदेव को योग का महत्‍व समझ में आया और इन्‍होंने आध्यात्म्य और योग में ही अपना जीवन बनाने का विचार किया  

बाबा रामदेव का वैराग्‍य जीवन 

बाबा रामदेव जी आठवीं कक्षा की परीक्षा उर्तीण करने के बाद हरियाणा के रेवाड़ी जिले के किशनगढ़ घसेदा के खानपुर गांव में आचार्य बलदेव द्वारा स्थापित गुरुकुल से जुड़ गए और बहॉ रह कर लोगों को मुफ्त में योग की शिक्षा देने लगे वहॉ रहकर इन्‍होंने वेदों , उपनिषदों , पुराणों का अध्‍ययन भी किया था बाबा रामदेव शुरुआत से ही स्वामी दयानन्द सरस्वती के विचारो से बहुत प्रभावित थे और वो भी उनकी तरह एक एक महान विचारक बनना चाहते थे इसी विचार के साथ उन्होंने वैराग्य धारण कर लिया और अपना नाम बदल कर रामकृष्ण यादव से स्वामी रामदेव कर लिया इसके बाद वे हरियाणा के जींद जिले में आकर आचार्य धर्मवीर के गुरुकुल कल्व में शामिल हो गये और हरियाणा के लोगो को योग की शिक्षा देने लग गये इनका मन वहॉ भी नहीं लगा और वह योगियों से मिलने केे लिए हिमालय की यात्रा पर निकल गये और यहीं पर इनकी मुलाकात आचार्य बालकृष्ण और आचार्य बालवीर से हुुुई अपने मिशन को आगे बढाने के लिए बह हिमालय से हरिद्वार आ गये  


पतंजली योगपीठ की शुरूआत 

बाबा रामदेव योग और आयुर्वेद का प्रसार करने के लिए पर्चे लेकर हरिद्वार की सडको पर घुमा करते थे 1995 में ही इन्‍होंने दिव्य योग मन्दिर ट्रस्ट की स्थापना की और 2002 में इन्‍होंने अपनी पहली सार्वजनिक सभा में योग स्वास्थ्य सिद्धांत को प्रकट किया वर्ष 2003 से बाबा रामदेव योग कैंप लगाने लगे और उसी वर्ष से प्रतिदिन सुबह उनके योग शिविर का सीधा प्रसारण टीवी पर आने लगा इसके बाद बाबा रामदेव जी ने 2006 में पतंजली योगपीठ की स्थापना हरिद्वार में की जिसका उद्देश्य योग और आयुर्वेद को को बढ़ावा देना है इस संस्‍था का नाम गुरु पातंजली के नाम पर रखा गया है यह भारत का सबसे बड़ा योग संस्थान है इस संस्‍थान में पतंजलि विश्वविद्यालय भी बना है यह संस्थान हरिद्वार-दिल्ली राष्टीय राजमार्ग पर स्थित है यह संस्‍थान 20 एकड़ जमीन में फैला हुआ है जिसमे संसार का सबसे बड़ा O.P.D. है जिमसे हर दिन 6 से 10 हजार तक रोगी रह सकते है यहॉ आने वाले रोगियों को योग के साथ-साथ आयुर्वेदिक पद्धती से उपचार के साथ अंग्रेजी पद्धति से उपचार करने के साधन उपलब्ध है

Tag - Swami Ramdev, Baba Ramdev Biography, Swami Ramdev Maharaj Life History,  things to know about Baba Ramdev's Patanjali Ayurved, baba ramdev education, 


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें