7 जुलाई 2007 को विश्व के 7 अाश्चर्य घाेषित किये गये पूरी दुनिया से करीब 200 मानव र्निमित कृतियों के नाम आए थे जो कम होते-होते 21 बचे जिनमें से आख़िरकार 7 चुने गए 7 जुलाई यानि 07-07-07 को चुने गये 7 आश्चर्य हैं-


The list of the Seven Wonders of the World in Hindi - विश्व के सात आश्चर्यों की सूची

  1. ताजमहल (Taj Mahal) - आगरा में संगमरमर का बना यह मक़बरा मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी प्रिय पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाया था। यह 1632 में बना और 15 साल में पूरा हुआ
  2. क्राइस्ट द रिडीमर (Christ the Redeemer ) - ब्राजील के 'रियो डि जनेरियो' में पहाड़ी के ऊपर स्थित 130 फुट ऊँची 'क्राइस्ट द रिडीमर' अर्थात 'उद्धार करने वाले ईसा मसीह' की मूर्ति है यह मूर्ति 1931 में बनकर तैयार हुई थी
  3. चीन की दीवार ( Great Wall of China) - चीन की यह दीवार 5वीं सदी ईसा पूर्व में बननी चालू हुई थी और 16 वीं सदी तक बनती रही थी यह दीवार चीन की उत्तरी सीमा पर बनाई गयी थी ताकि मंगोल आक्रमणकारियों को रोका जा सके चीन की यह दीवार संसार की सबसे लम्बी मानव निर्मित रचना है। जो लगभग 4000 मील (6,400 किलोमीटर) तक फैली है 
  4. रोम का कोलोसियम - रोम का कोलोसियम एक विशाल खेल स्टेडियम है 
  5. जोर्डन का पेत्रा - अरब के रेगिस्तान के कोने में बसा पेत्रा 2000 साल पुराना शहर है जो राजा अरेतास चतुर्थ की राजधानी था यह अपने तरह की पत्थर की इमारतों के लिये प्रसिद्ध है, जो लाल चट्‌टानों से बनी हैं
  6. माचू पिच्चू - दक्षिण अमरीका में एंडीज पर्वतों के बीच बसा माचू पिच्चू शहर 15वीं शताब्दी तक बसा हुआ था स्पेन के आक्रमणकारी यहाँ पर 'छोटी चेचक' जैसी भयानक महामारी ले आए जिसके कारण यह शहर पूरी तरह उजड़ गया
  7. चिचेन इत्जा - आज के मध्य अमेरिका में स्थित यह मंदिर-नगरी पुरानी माया सभ्यता का अवशेष है 
New7Wonders of the world, Wonders of the World, The Seven Wonders of the World Complete List, What are the seven wonders of the world, seven wonders of the world in hindi, 



loading...

Post a Comment

  1. बहुत बढ़िया एवं ज्ञानवर्धक जानकारी दी गई हैं ! धन्यवाद !

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रेम कुमार जी
      अापका लर्नसबकुछ पर स्वागत है

      Delete

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें