हमारे देश भारत का राष्‍ट्रीय चिन्‍ह (National Symbols) "अशोक चिन्‍ह" (Ashok signs) सारनाथ के अशाेक स्‍तम्‍भ से लिया गया है, जो सम्राट अशोक (Samrat Ashoka ) ने बनवाये थे, आईये जानते हैं Ashoka Biography in Hindi - सम्राट अशोक केे बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी - 


information about ashoka in hindi - सम्राट अशोक केे बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी

  1. अशोक मौर्य वंश का महान राजा और विन्‍दुसार का पुत्र था
  2. वह 269 ई० में राजगद्दी पर वैठा था
  3. सम्राट अशोक का राज्‍याभिषेेक पाटिलपुत्र में हुआ था
  4. राजा बनने से पहले अशोक तक्षशिला का प्रांतपति था
  5. अशोक अपने 99 भाइयों को मारकर राजगद्दी पर बैठा था
  6. अशोक ने 261 ई० में कलिंग का युद्ध लडा था
  7. इस युद्ध केे बाद अशोक का जीवन पूरी तरह से बदल गया हैै
  8. अौर इसी युद्ध के बाद अशोक नेे बौद्ध धर्म अपना लिया था
  9. अशोक ने उपगुप्‍त नामक बौद्ध भिक्षु से बौद्ध धर्म की दिक्षा ली थी
  10. अशोक ने राजभाषा के रूप में पलि भाषा और राष्‍ट्रीय लिपि के रूप में ब्राह्मी लिपि का प्रयोग किया था
  11. अशोक समय में कलिंग की राजधानी तोशली थी
  12. अशाेक ने अपने शासन काल  के दसवें वर्ष सबसे पहले बोधगया की यात्रा की थी
  13. अशोक ने अपनी प्रजा केे लिए जिन आचार-विचारों को कहा था उसे उसकेे अभिलेखोंं में धम्‍म कहा गया है
  14. अशोक प्रथम शासक था जिसने अभिलेखों के द्वारा प्रजा को संबोधित किया था
  15. इसकी प्रेरणा अशोक ने ईरानी शासक दारा प्रथम से ली थी
  16. सॉची केे स्‍तूूप का निर्माण अशोक ने कराया था
  17. अशोक के सारनाथ के स्‍तम्‍भ पर चार सिहों का शीर्ष बनाया गया हैै
  18. अशोक ने बौद्ध धर्म को राजधर्म बना दिया था
  19. बौद्ध धर्म से पहले अशोक ब्राह्मण में विश्‍वास रखता था
  20. अशोक के कौशाम्‍बी से प्राप्‍त अभिलेख को रानी का अभिलेख कहा जाता है
  21. अशोक का सबसे छोटा स्‍तत्‍भ लेख रूम्मिनदेई का है
  22. अशोक के शिलालेखों की खोज 1750 ई० में पाद्रेही फेन्‍थैैलर ने की थी
  23. अशोक के अभिलेखों काेे पढने की सफलता सबसे पहले 1837 ई० में जेेम्‍स प्रिंसेए को मिली थी
  24. अशोक मृत्‍युु 232 ई० में हुई थी
Interesting Facts about Sushim, Samrat Ashoka Maurya's, Ashoka - Ashoka the Great, Emperor, Asoka, Ashoka Biography, Early Life of Asoka the Great , Ashoka - Ancient History Encyclopedia


loading...

Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें