अभिमन्‍यु भारद्वाज 2:15:00 AM A+ A- Print Email
घडी एक समय बताने वाला उपकरण है जो आजकल घडी समय बताने का नहीं वल्कि फैशन के लिए भी पहनी जाती है आज के समय में घडी सस्‍ती से लेकर काफी महंगी तक आती है हालांकि आजकल समय देखने के और भी विकल्‍प मौजूद हैं फिर भी घडी की अपनी महत्‍वता है तो आइये जानें घडी का आविष्‍कार कब,कैसे और क्‍यों हुआ - Know when, how and why the clock was invented

जानें घडी का आविष्‍कार कब,कैसे और क्‍यों हुआ - Know when, how and why the clock was invented

यह भी पढें - गलती से हुए थे विज्ञान के ये आविष्‍कार

ऐसा माना जाता हैै कि सबसे पहले सूर्य के मुताबिक समय का अनुमान लगाया जाता था लेकिन आसमान में बादल होने की स्थिति में समय का अनुमान नहीं लग पाता था इसके बाद जल घड़ी का आविष्कार हुआ जिसका श्रेय चीन को जाता है चीन देशवासियों ने लगभग तीन हजार वर्ष पहले इस घडी का आविष्‍कार किया था लगभग सवा दो हज़ार साल पहले प्राचीन यूनान यानी ग्रीस में पानी से चलने वाली अलार्म घड़ियाँ तैयार की जिममें पानी के गिरते स्तर के साथ तय समय बाद घंटी बज जाती थी

इसके बाद इंग्लैंड के एलफ़्रेड महान ने मोमबत्ती की सहायता से समय का अनुमान लगाने की विधि बनाई जिसमे उन्होने एक मोमबत्ती पर समान दूरियो पर चिन्ह अंकित किये और मोमबत्ती के पिघलने से समय का अनुमान लगाया जाता था

लेकिन आधुनिक घड़ी के आविष्कार का श्रेय जाता है पोप सिलवेस्टर द्वितीय को जाता है जिन्होंने सन् 996 में घड़ी का आविष्कार किया यूरोप में घड़ियों का प्रयोग 13वीं शताब्दी के मध्‍य में होने लगा था इसके अलावा सन 1288 मे इंग्लैंड के वेस्टमिस्टर के घंटाघर मे और अलबान्स मे सन 1326 मे घड़ियाँ लगाई गई

सन् 1300 में हेनरी डी विक ने पहिया डायल तथा घंटा निर्देशक सूईयुक्त पहली घड़ी बनाई थी जिसमें सन् 1700 ई. तक मिनट और सेकंड की सूइयाँ तथा दोलक लगा दिए गए थे आजकल की यांत्रिक घड़ियाँ इसी शृंखला की संशोधित कड़ियां हैं

इसके बाद 1504 में डिमिनीश हेनलेन ने एक टाइमपीस बनाया जिसे पहनना और कहीं भी ले जाना आसान था लेकिन ये टाइमपीस सहीं समय नहीं बताती थी क्‍योंकि ये लोगों के घूमने के साथ टाइम बदल देती थी डिमिनीश हेनलेन के बाद पटेक फिलिप ने उन्‍नीसवीं शताब्‍दी में कलाई घडी का आविष्‍कार किया इन्‍होंने महिलाओं के लिए कलाई घडी बनाई थी और लुई कार्टियर ने बीसवीं शताब्‍दी में पुरूषों के लिए घडी विकसित की थी

इतिहासकारों के मुताबिक सन 1577 में घड़ी की मिनट वाली सुई का आविष्कार स्विट्ज़रलैंड के जॉस बर्गी द्वारा उनके एक खगोलशास्त्री मित्र के लिए किया गया था

सबसे पहली हाथ घड़ी पहनने वाले व्यक्ति थे फ़्राँसीसी गणितज्ञ और दार्शनिक ब्लेज़ पास्कल जो घड़ी को रस्सी के जरिये अपने हाथ पर बाँध लिया करते थे ताकि काम करते करते भी वो आसानी से समय देख सकें ये वही ब्लेज़ पास्कल हैं जिन्हें कैलकुलेटर का आविष्कारक भी माना जाता है इससे पहले लोग घडी को जेब में रखकर घूमते थे

इसके बाद 1504 में डिमिनीश हेनलेन ने एक टाइमपीस बनाया जिसे पहनना और कहीं भी ले जाना आसान था लेकिन ये टाइमपीस सहीं समय नहीं बताती थी क्‍योंकि ये लोगों के घूमने के साथ टाइम बदल देती थी डिमिनीश हेनलेन के बाद पटेक फिलिप ने उन्‍नीसवीं शताब्‍दी में कलाई घडी का आविष्‍कार किया इन्‍होंने महिलाओं के लिए कलाई घडी बनाई थी और लुई कार्टियर ने बीसवीं शताब्‍दी में पुरूषों के लिए घडी विकसित की थी

Tag - When the first clock was invented, History of timekeeping devices, The first modern-day clock, A History of Clocks, A brief history of telling time, who invented the first clock


Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें