अभिमन्‍यु भारद्वाज 3:14:00 AM A+ A- Print Email
कोरोना वायरस महामारी के फैलते आज कल ये शब्‍द खूब सुनने को मिल रहे हैं लेकिन बहुत से लोग इन शब्‍दों का मतलब नहीं जानते हैं और न ही ये जानते हैं कि इनमें अंतर क्‍या होता है तो आइये जानें क्‍वारंटाइन और आइसोलेशन में क्‍या अंतर होता है - Know what is the difference between quarantine and isolation

जानें क्‍वारंटाइन और आइसोलेशन में क्‍या अंतर होता है - Know what is the difference between quarantine and isolation

क्‍वारंटाइन क्‍या है (What is quarantione)

असल में क्‍वारंटाइन फ्रैंच भाषा का शब्‍द है जिसका मतलब होता है 40 दिन, इस शब्दा का सबसे पहले इस्तेमाल 14वीं शताब्दी में किया गया था दरअसल 1348 से 1359 के बीच एशिया और यूरोप में प्लेग की वजह से करोड़ों लोग मर गए थे इसके बाद अलग-अलग देशों ने दूसरे देश से आने वाले जहाजों और उस पर सवार लोगों पर 30 दिनों की रोक लगा दी जहाज समंदर के किनारे आते तो थे लेकिन उन्हें शहर में दाखिल नहीं होने दिया जाता था उस वक्त इस पीरियड को ट्रेनटाइन कहा जाता था लेकिन बाद में पता चला कि प्‍लेग के मरीज में लक्षण संक्रि‍मित होने के 37 दिन बाद दिखते हैं तब इस समय को बढा कर 40 दिन कर दिया और इसे क्‍वारंटाइन कहा गया अगर हम बात करें कोरोना वायरस के सम्‍बंध में तो जब कोई व्‍यक्ति किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ जाता है या संपर्क में आने की आशांका होती है तो उस व्‍यक्ति को क्‍वारंटाइन कर दिया जाता है कोरोना वायरस में करंटाइन का समय 14 दिन का है 14 दिन के भीतर ही उस व्‍यक्ति में कोरोना के लक्षण हैं या नहीं दिखने लग जाते हैं ि‍जिस व्‍यक्ति को क्‍वारंटाइन किया जाता है उसका हर रोज मेडिकल चेकअप होता है, उसका हेल्थ बुलेटिन जारी होता है. इसके अलावा उस आदमी से हॉस्पिटल के स्टाफ के अलावा और कोई नहीं मिल सकता है. क्वॉरंटीन किए गए शख्स को हर वक्त मास्क लगाना ज़रूरी होता है. उसके कपड़े, बर्तन सब अलग होते हैं, बेड, तौलिया, तकिया सब अलग होता है और कोई दूसरा उसका इस्तेमाल नहीं कर सकता है

आइसोलेशन क्‍याा है (What is isolation )

आइसोलेशन में ऐसे मरीजों को रखा जाता है जिनमें कोरोना का संक्रमण हो चुका है आइसोलेशन का मतलब है अलगाव या एकांतवास अगर कोई व्‍यक्ति किसी कोरोना पीड़ित शख्स के संपर्क में आ गए हैं तो भी वह खुद को आइसोलेट कर सकता है इसके अलावा अगर आपको सर्दी-जुकाम जैसे लक्षण दिख रहे हैं तो भी कोई व्‍यक्ति खुद को आइसोलेट कर सकता हैं कोई व्‍यक्ति अपने घर में आइसोलेट रह सकता है वह आइसोलेशन के दौरान हवादार कमरे में रहें अलग बाथरूम का इस्तेमाल करें हॉस्पिटल न जाएं जांच करानी हो तो फोन से सूचना दें जिससे स्वास्थ्य विभाग की टीम सुरक्षित तरीके से सैंपल ले सके जांच के लिए लार देते समय सावधानी बरतें सांस लेने में परेशानी हो तो तत्काल डॉक्टर से बात करें जरूरत के हिसाब से अस्पताल में रहेंअपने आप से दवा न लें। सार्वजनिक यातायात, कैब, टैक्सी आदि से भी बचें 14 दिनों के बाद अगर आप आइसोलेशन से बाहर निकलते हैं तब भी आपको सावधानी रखनी ही होगी

Tag - Quarantine and Isolation, Difference between Isolation and Quarantine,


Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें