अभिमन्‍यु भारद्वाज 5:49:00 PM A+ A- Print Email
ये तो हम जानते हैं कि देश में इस समय लॉकडाउन चल रहा है और ये कब तक चलेगा इसका किसी को अंदाजा नहीं है ये लॉकडाउन केवल कोरोनावायरस को ज्‍यादा फैलने से रोकन के लिए है किया गया है लेकिन लॉकडाउन होने के बाद भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्‍या बढती जा रही है तो देश के कुछ इलाकों में सीलिंग की गई है पर क्‍या आप जानते हैं कि लॉकडाउन और सीलिंग में क्‍या अंतर होता हैै अगर नहींं तो आइये जानते हैं क्‍या अंतर होता है सीलिंग और लॉकडाउन में - What is the difference between sealing and lockdown

क्‍या अंतर होता है सीलिंग और लॉकडाउन में - What is the difference between sealing and lockdown

लॉकडाउन (Lockdown)


लॉकडाउन के समय आपको जरूरी सामान लाने की इजाजत होती है जिसमें दवा,दूध, किराना शामिल हैं लॉकडाउन के दौरान आप एहतियात के साथ जरूरी सामान लेने बाहर जा सकते हैं मगर बेवजह घरों से निकलने पर कानूनी रोक होती है अगर लॉकडाउन के दौरान कोई फालतू अपने घर से बाहर घूमता हुआ पाया जाता हैै तो पुलिस उस पर तुरंत कानूनी कार्यवाही नहीं करती हैै उसे घर में रहने की सलाह दी जाती है लॉकडाउन के दौरान सभी गैर-जरूरी गतिविधियों और सेवाओं पर रोक लगाई जाती है 

सीलिंग (Sealing)

सीलिंग के लिए जिस ऐरिया को चुना जाता है उस ऐरिया के किसी को भी जाने की अनुमती नहीं होती है और उस ऐरिया में से भी कोई व्‍यक्ति बाहर नहीं जा सकता है केवल उस ऐरिया के तीन किलोमीटर केे दायरे पुलिस कमिर्यों स्‍वास्‍थय कमिर्यों और सुफाई कमिर्यों को ही जाने की अनु‍मति होती है इस दौरान मीडिया को भी उस इलाके में जाने नहीं दिया जाता है अगर काई मिडिया कर्मी उस इलाके में रह रहा है तो वह अपने दफ्तर आ-जा सकता है अगर इस इलाके में कोई बीमार है तो आप उसे अपनी गाडी में नहीं ले जा सकते है उसके लिए आपको एम्‍व्‍यूलेंस बुलानी होगी बही मरीज को ले जा सकती है सीलिंग वाले ऐरिया में जरूरी सामना की होग डिलीवरी प्रशासन द्वारा की जाती है ऐसे में काई भी व्‍यक्ति अपने घर से बाहर पाया जाता है तो उसके खिलाफ तुरंत कानूनी कार्यवाही की जाती है 

Tag - What's difference between sealed & lockdown, Corona, Lockdown And Sealing, Coronavirus pandemic,


Post a Comment

यह बेवसाइट आपकी सुविधा के लिये बनाई गयी है, हम इसके बारे में आपसे उचित राय की अपेक्षा रखते हैं, कमेंट करते समय किसी भ्‍ाी प्रकार की अभ्रद्र भाषा का प्रयोग न करें